बातें/ Baatein

कुछ तो बात छुपी है तेरे दिल मे,बातों से डर नहीं लगता।बातें जब तक चले, सही,गुमराह मन के भी साथ हुं रहता।। आपस में बीताया ये समय,आपस में रहे हम साथ।इसी याद में कह दो मुझसे,क्यु कांप रहे हैं तेरे हांथ? ये आंखों में आंसू की छाया,ये माथे पर डर की लकीर,चुप रहके सहती हो … Continue reading बातें/ Baatein

Hopes

Blink, and you miss. Don’t, and you’ll stillmiss my willpower, it is that fickle.Every thought, plan, goal, and dream,Doomed to fail like the hammer and sickle. I marshal my thoughts. I plan my day.Do I bite off more than I can chew?I beseech myself to face my battles,pray that this isn’t another Waterloo. I actively … Continue reading Hopes